शनिवार, 23 जनवरी 2010

क्या तेरे लिये इन्सान हूँ???

न तेरे ठुकराने से परेशान हूँ
न तेरी नफरत से हैरान हूँ
बस इतना ही जानने की चाहत है बाकी
क्या तेरे लिये इन्सान हूँ???

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें