शनिवार, 13 फ़रवरी 2010

ब्रेक को कर दिया ब्रेक........(यशवंत मेहता)

ब्रेक को कर दिया ब्रेक.

निठल्लो के बादशाह ने ब्रेक की घोषणा करी. वैसे काहे का ब्रेक????

गोवा घुमने जा रहे हो....

..नहीं सरकार...

...तो फिर...

..क्या दिल्ली से आगरा तक हाथी की सवारी पर निकले हो????..

...नहीं महाराज....अबे तो काहे का ब्रेक.....कैसा ब्रेक...

..विचारो के समंदर ने फिर से बहा दिया.....बोले तो अपनी कसती फिर ब्लॉग पर आकर अटक गयी....अब जायें  तो जायें कहाँ....तो फिर से चले आये और ब्रेक को कर दिया ब्रेक.....

अरे बावले मनुष्य.....पगला गया हैं क्या???....ब्रेक की घोषणा को ब्रेक कर रहा हैं????....

..अबे हाँ न....ब्रेक को कर दिया ब्रेक...कौन से भीष्म प्रतिज्ञा हैं......तुझे कोई परेशानी...

..नहीं साहब मुझे क्या परेशानी.....१० बार ब्रेक पर जाओ.....२० बार लौट कर आओ....रोज जाओ.....रोज आओ....मैं कुछ नहीं कहूँगा...

..तो कर दो ब्रेक को ब्रेक.....वापस आ गए अपनी आभासी दुनिया में.....जय हो

कृपया राजनेताओ की बातों पर विश्वास न करें, परन्तु इस बात का भी विश्वास न करें कि मैं कोई राजनेता हूँ

1 टिप्पणी: